उसके सिवा किसी और को चाहना मेरे बस में नहीं हे, ये दिल उसका हे, अपना होता तो बात और होती । [wp_ad_camp_1] usake siva kisee aur ko chaahana mere bas mein nahin hai, ye dil usake he, apane hone to baat aur hona chaahie

[wp_ad_camp_1] बार–बार टूटने के बाद अब भी मुझमें है हिम्मत संभलने कीयकीं है मुझे पा लूँगा अपनी मंजिल, पार करके हर मुसीबतगर साथ है मेरे, मेरे खुदा की मेनत