दिल टूटकर बिखरता है

[wp_ad_camp_1]

उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है!
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है!
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर!
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है!

ulphat ka aksar yahee dastoor hota hai!
jise chaaho vahee apane se door hota hai!
dil tootakar bikharata hai is kadar!
jaise koee kaanch ka khilauna choor-choor hota hai!

admin

Related Posts

Love shayri mostly

Propose Shayari | तेरा वहम है की

ख्याल  भी  नही  आया …!!💞

उसे🤵🏻कभी 😟 भी रुलाना नहीं….💕❤

No Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *