Love shayri mostly

Love shayri

“ज़िन्दगी यूँ ही बहुत कम है, 
मोहब्बत के लिए, 
फिर एक दूसरे से रूठकर 
वक़्त गँवाने की जरूरत क्या है।”
"zindagee yoon hee bahut kam hai, 
mohabbat ke lie,
phir ek doosare se roothakar 
vaqt ganvaane kee zaroorat kya hai."

Yogesh

Related Posts

2 Line Shayri हम ख़ुद निशां बन गये

2 Line Shayri हम ख़ुद निशां बन गये

Pyar bhri shayari loveshayri

Propose Shayari | तेरा वहम है की

ख्याल  भी  नही  आया …!!💞

No Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *